अगर चन्नी सरकार सही काम कर रही है तो सरकारी विभागों के सभी कर्मचारी सड़कों पर क्यूँ: जीवन गुप्ता

प्रदेश भाजपा महासचिव जीवन गुप्ता ने पंजाब सरकार के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा अपनी चुनावी रैलियों में पंजाब की जनता को फ्री घोषणाएं किए जाने पर कटाक्ष करते हुए कहा कि पहले तो यह सभी जनता को इस बात जा जवाब जनता को दें कि इन घोषणाओं के लिए फंड कहाँ से आएगा? यह सभी घोषणाएं कितने समय में पूरी की जाएँगी? क्यूंकि पंजाब सरकार के वित्त-मंत्री मनप्रीत सिंह बादल द्वारा पंजाब का खज़ाना खली होने तथा पंजाब सरकार गठित आहलुवालिया कमेटी ने भी अपनी रिपोर्ट में पंजाब सरकार द्वारा अपने वित्तीय खर्चे बिलकुल कम करने व नई भर्तियाँ बंद करने हिदायत दी गई है। लेकिन मुख्यमंत्री चन्नी अपने गलत फैसलों से पंजाब को कंगाली की कगार तक ले जाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे। ऐसा ही हाल मुख्यमंत्री केजरीवाल भी कर रहे हैं।

जीवन गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री चन्नी द्वारा जनता को केबल के दाम 100 रुपए देने पर कटाक्ष करते हुए चन्नी को सवाल किया कि क्या चन्नी साहब को पता है कि केंद्र सरकार ने इसके लिए ट्राई (TRAI) द्वारा 130 रुपए निर्धारित किए गए हैं जिस पर जी.एस.टी. व अन्य खर्चे अलग हैं। चन्नी साहब बताएं कि करीब 300 रुपए में पड़ने वाली चीज को कोई 100 रुपए में कैसे देगा और अगर वो देगा तो उसका नुक्सान कौन पूरा करेगा? गुप्ता ने सिद्धू पर सवाल उठाते हुए कहा कि पिछले साढ़े चार वर्षों में पंजाब सरकार और सिद्धू कहाँ सोए थे? तब क्या इन्हें जनता की भलाई करने का ख्याल नहीं आया? सिद्धू बाद-बार कह रहे है कि अगर फंड आपके पास नहीं है और आप सिर्फ घोषणाएं कर रहे हैं तो लोगों का भला कैसे होगा? तो सिद्धू साहब बताएं कि अगर आपने वित्त-मंत्री बोल रहे हैं कि पंजाब का खज़ाना खाली है, तो फिर चन्नी साहब द्वारा की जा रही बड़ी-बड़ी घोषणाओं के लिए पैसा कहाँ से आएगा? क्या पंजाब सरकार पंजाब को बेचने की तैयारी या मोटा कर्ज लेने की फिराक में तो नहीं है? गुप्ता ने कहा कि अगर पंजाब सरकार के पैसे हैं तो चन्नी साहब व सिद्धू बताएं कि पंजाब सरकार के सभी सरकारी विभागों के कर्मचारी सडकों पर क्यूँ हैं?

जीवन गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल पहले अपने गिरेबान में झांक लें, क्यूंकि जो खुद भ्रष्टाचार में लिप्त हैं वो दूसरों पर कीचड़ नहीं उछाल सकते। क्जेरिवल सरकार खुद घोटालों में लिप्त है। केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में स्कूल निर्माण के दौरान 2000 करोड़ का घोटाला किया, राशन में 325 करोड़ का घोटाला, PWD घोटाला, मुहल्ला क्लीनिक में घोटाला, बिजली के यूनिट फ्री देने में घोटाला, नए पुलों के निर्माण में भी घोटाला आदि जैसे कई घोटाले किए हैं। गुप्ता ने कहा कि अगर कोई 26 लाख नौकरी देने का दम भरता है, तो इसका साफ मतलब है कि इसके लिए कम से कम 93 हजार करोड़ का बजट चाहिए। हर महिला को 1000 रुपये प्रति मा‍ह देने के लिए 12000 करोड़ हर साल चाहिए। दो किलो वाट फ्री बिजली देने का मतलब 3600 करोड़ का बजट। इन सब का मिला कर करीब 1,10,000 करोड़ का बजट बनता है, जबकि पंजाब सरकार का 2021-22 का पेश किया गया अपना बजट 1,68,015 करोड़ का है।

जीवन गुप्ता ने कहा कि भाजपा पंजाब के विकास के लिए विस्तृत प्लान लेकर आएगी। भाजपा जो भी कहेगी वो उसे पूरा करेगी, क्यूंकि भाजपा अपने घोषणापत्र में पंजाब की मूल-भूत समस्याओं को ध्यान में रख कर, जनता व व्यापारियों से बात-चीत कर तैयार किया जाएगा और भाजपा उसके लिए प्रतिबद्ध व जनता की जवाबदेह होगी। भाजपा पंजाब को माफिया-मुक्त, भ्रष्टाचार मुक्त, नशा-मुक्त व रोजगार-युक्त पंजाब देने का वाद करती है और वह इसके लिए प्रतिबद्ध है।