”अनेकता में एकता और विभिन्न रूपों में एकता की अभिव्यक्ति भारतीय संस्कृति की सोच रही है”

120103933_1546692048848204_3399528679139877005_n
एकात्म मानववाद व अंत्योदय के प्रणेता
पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की जयंती पर उन्हें शत् शत् नमन।
#पंडित_दीनदयाल_उपाध्याय