अरुण नारंग पर हुआ कातिलाना हमला बेहद शर्मनाक, कैप्टन सरकार की फेलियर का नतीजा | प्रदेश में कानून-व्यवस्था की धज्जियां उड़ा रहे कांग्रेसी व् उनके समर्थित असमाजिक तत्व: अश्वनी शर्मा

whatsapp-image-2021-03-28-at-10-21-44
अबोहर से भाजपा विधायक अरुण नारंग पर मलौट में हुआ कातिलाना हमला तथा उनकी सरेआम की गई बेइज्जती व बदनामी प्रदेश के इतिहास में “दुखद दिन” के रूप में दर्ज हो गई हैI अश्विनी शर्मा ने इस हमले की घोर निंदा करते हुए कहाकि कैप्टन सरकार राज्य में कानून और व्यवस्था की रक्षा करने में पूरी तरह विफल रही है। उन्होंने कहाकि प्रदेश में राजनीति सबसे निचले स्तर को छूने के लिए कांग्रेस सरकार इतिहास में दर्ज हो गई है| हालाँकि इस घटना के दौरान भाजपा विद्यायक अरुण नारंग ने बहुत शालीनता का प्रदर्शन कियाI शर्मा ने इस हमले के दोषियों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कारवाई की मांग की हैI

            अश्वनी शर्मा ने कहाकि देश के राजनीतिक इतिहास में कभी भी ऐसी “घृणित घटना” नहीं हुई हैI  लोकतांत्रिक रूप से स्थापित राजनीतिक दलों को विरोध करने और निंदा करने का पूरा अधिकार है, लेकिन एक “शालीनता का कोड” होता है जिसका पालन सभी सभ्य समाज करते हैं। शर्मा ने कहाकि विधायक की सुरक्षा में तैनात पुलिस अपने निर्वाचित विधायक की रक्षा नहीं कर सकीI शर्मा ने कहाकि अगर उन्मादी भीड़ किसी आम आदमी को काबू कर ले तो उसका क्या हाल होगा? शर्मा ने कहाकि विधायक का एकमात्र दोष यह था कि वह मलौट में कैप्टन अमरिंदर सिंह के “चार साल के कुशासन” के विरुद्ध प्रेसवार्ता करने गए थे। कैप्टन ने उपद्रवियों को प्रोत्साहित किया है, जो किसान होने की आड़ लेकर  भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं पर गुंडों की तरह हमले कर रहे हैं। कोई भी पंजाबी किसान इस स्तर की अभद्रता नहीं कर सकता। यह सब कांग्रेसी गुंडा-तत्वों द्वारा निर्दोषों को डराने और परेशान करने के लिए किया जा रहा है।

अश्वनी शर्मा ने कहाकि कैप्टन अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री के रूप में शासन करने का कोई अधिकार नहीं है और उन्हें शासन के लोकतांत्रिक मूल्यों का पालन करते हुए तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए। शर्मा ने कहाकि एक राजनीतिक दल के रूप में भाजपा को राज्य के नागरिकों की आवाज़ तथा उनसे जुड़े गंभीर मुद्दों को शांतिपूर्ण ढंग से उठाने का पूरा अधिकार है और यह घटना असंतोष की आवाज को दबाने का प्रयास है। भाजपा एक ऐसी पार्टी है जो “ड्रामा पॉलिटिक्स” में विश्वास करती है और असंतोष की सभी आवाज़ों को सम्मान देती है, लेकिन यह एक ऐसी पार्टी भी है जो ज़रूरत पड़ने पर खुद को बचाना जानती है। हम इस घटना की कड़ी निंदा करते हैं और राज्य में कानून व्यवस्था के कारण उत्पन्न होने वाली अनिश्चित स्थिति के अपने कुप्रबंधन के लिए कांग्रेस सरकार को दोषी मानते हैं। दुर्भाग्य से कांग्रेस अपने निहित स्वार्थों के लिए हिंसा और अपमान की नीच राजनीति पर उतर आई है। हम अपने गृह राज्य पंजाब के लिए शांति और समृद्धि चाहते हैं और अपने लोगों की सुरक्षा के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

अश्वनी शर्मा ने कहाकि भाजपा अपने नेताओं पर हो रहे जानलेवा हमलों को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगी और इसके विरुद्ध पूरे प्रदेश में जनता के सहयोग से आन्दोलन छेड़ेगी|