अश्वनी शर्मा द्वारा सिख समुदाय की लड़कियों को अगवा कर जबरन धर्मांतरण करवाने वालों के लिए विरुद्ध कड़ी कारवाई की उठाई माँग।

ashwani-sharma-2

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने कश्मीर में सिख समुदाय की दो लड़कियों को कथित तौर पर अगवा कर उनका धर्मांतरण करने के मामले की कड़े शब्दों में निंदा की है। उन्होंने कहाकि पाकिस्तान समर्थित कटड़पंथी मुस्लिम भारत के अभिन्न अंग कश्मीर में भी ऐसी घिनौनी हरकतें करने लगे हैं, जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसका कड़ा जवाब दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहाकि हमारे गुरुओं ने मुस्लिमों के जबरन धर्म-परिवतर्न के विरुद्ध युद्ध कर अपना बलिदान दिया था, जो कि हमारे समाज में जिवंत उदहारण है। उन्होंने सरकार से मांग की कि जम्मू-कश्मीर में अल्प-संख्यक हिन्दू व सिख समाज के लोगों की सुरक्षा यकीनी बनाई जाए।

अश्वनी शर्मा ने कहाकि जिन दो लड़कियों का अपहरण किया गया था, उसमें से पुलिस ने अभी तक सिर्फ एक को ही अब तक छुड़ाया है। उन्होंने कहाकि दोनों लड़कियों का बंदूक की नोक पर अपहरण किया गया था उनका जबरन धर्मांतरण करवा कर दोनों लड़कियों का जबरन बुजुर्ग लोगों के साथ निकाह करा दिया गया। जो कि किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। शर्मा ने मांग की कि ऐसा करने वाले दोषियों को बीच चौराहे पर गोली मार देनी चाहिए, क्यूंकि भारतीय समाज में ऐसा करने का किसी को भी अधिकार नहीं है।

अश्वनी शर्मा ने केंद्र सरकार तथा जम्मू-कश्मीर सरकार से मांग की कि जम्मू-कश्मीर में एक कानून बनना चाहिए, जिसके तहत अंतर्धार्मिक विवाह से पहले पेरेट्स की परमिशन लेना जरूरी हो। उन्होंने सरकार से अपील की कि वह इस जबरन धर्मांतरण के खिलाफ कड़ा एक्शन ले।