कांग्रेसी नेताओं द्वारा मुस्लिम बहुल इलाके के लोगों को भड़काने की कोशिश चुनाव के समय में पंजाब का धार्मिक सौहार्द बिगाड़ने का षड्यंत्र: शाजिया इल्मी

img-20220122-wa0036
भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता शाजिया इल्मी ने पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू के सलाहाकार पूर्व डी.जी.पी. मोहम्मद मुस्तफा द्वारा चुनाव प्रचार के दौरान हिन्दुओं को लेकर की गई घृणा-पूर्ण व भड़काऊ टिप्पणी ‘मेरे खिलाफ हिन्दुओं को जलसा करने की इजाजत देने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दिए जाने’ पर कड़ा नोटिस लेते हुए कहा कि मुस्तफा के इस ब्यान से कांग्रेस का हिन्दू-विरोधी व देश-विरोधी सोच वाला चेहरा फिर बेनकाब हुआ है। शाजिया आज भाजपा मुख्यालय चंडीगढ़ में पत्रकारों से बातचीत कर रही थीं। इस अवसर पर उनके साथ शिवम छाबड़ा, मंजीत सिंह कोहली, सुरजीत राय आदि उपस्थित थे। शाजिया ने कहा कि मुस्तफा पंजाब में दंगे भड़का कर सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास कर रहा हैं। शाजिया ने कहा कि मुस्तफा के इस विवादित बयान सामने आने के बाद पंजाब में माहौल तनावपूर्ण हो गया है। उन्होंने कहा कि मुस्तफा के इस ब्यान पर राहुल गाँधी, प्रियंका गाँधी, चन्नी, सिद्धू सहित समस्त कांग्रेस को जवाब देना होगा। शाजिया ने कहा कि कांग्रेस देश की तरह पंजाब को भी बाँटने तथा खुनी होली खेलने की गन्दी राजनीति कर रही है।

शाजिया इल्मी ने कहा कि मोहम्मद मुस्तफा का हिन्दू विरोधी ब्यान क्या कांग्रेसी सेक्युलरिजम है? नवजोत सिद्धू के चहेते मुस्तफा द्वारा जान-बूझ कांग्रेस की सोची-समझी साजिश के तहत मुस्लिम बहुल इलाके मलेरकोटला के मुस्लिम समुदाय के लोगों को भड़काने की कोशिश कर चुनाव के समय में पंजाब का धार्मिक सौहार्द बिगाड़ने का षड्यंत्र रचा गया है। उन्होंने कहा कि नवजोत सिद्धू व मुस्तफा पाकिस्तान की आई.एस.आई. के हाथों खेल रहे हैं। शाजिया ने कहा कि पाकिस्तान की भाषा बोलने वाले ऐसे लोगों को तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए। पाकिस्तान और इमरान खान को प्रेम करने वाले लोगों की पार्टी को इस मामले में पंजाब की जनता को जवाब देना पड़ेगा।

शाजिया इल्मी ने कहा कि ये हेट स्पीच कांग्रेस व मुस्तफा की हिन्दुओं के प्रति सोच है। शाजिया ने चुनाव आयोग से अपील की कि मुस्तफा के इस ब्यान के विरुद्ध तत्काल संज्ञान लेते हुए उनकी पत्नी रजिया सुल्ताना का मलेरकोटला से नामांकन रद्द किया जाए। क्यूंकि उनका पति मोहम्मद मुस्तफा उनके चुनाव प्रचार के दौरान पंजाब में हिन्दू-मुस्लिम दंगे भड़काकर पंजाब का सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास कर रहा है। पंजाब ने पहले ही आंतकवाद के काले दौर में बहुत गहरे जख्म खाए हैं। भाजपा किसी को भी पंजाब का माहौल खराब करने की इजाजत नहीं देगी।

डॉ. सुभाष शर्मा ने कांग्रेस पंजाब में अपनी फेल सरकार की नाकामियों को छुपाने के लिए पंजाब में 1984 से पहले वाला काला दौर दोहारने के लिए नीच साजिशे रच रही है, लेकिन भाजपा तथा पंजाब की जनता कांग्रेस की इन नीच चालों को कभी कामयाब नहीं होने देगी। उन्होंने कहा कि सिद्धू और मुस्तफा दोनों की सोच एक जैसी है। उन्होंने कहा कि भाजपा मुस्तफा के विरुद्ध चुनाव आयोग को शिकायत भी दर्ज करा रही है।