किसानों आदोलन को हाथ से निकलता देख स्पष्ट होती अपनी हार को भांप कर विपक्षी दल हिन्दू कार्ड खेलने में जुटे।

jeevan-gupta-1-1
शिरोमणि अकाली दल का हिन्दू मंदिरों में जाना महज सियासी ड्रामाइससे पहले आज तक कोई नहीं दिखा मन्दिरो में: जीवन गुप्ता

भारतीय जनता पार्टी, पंजाब के महासचिव जीवन गुप्ता ने शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल तथा अन्य अकाली नेताओं द्वारा हिन्दुओं के पूजनीय धार्मिक तीर्थ माता चिंतपूर्णी जी सहित हिन्दू मन्दिरों में नतमस्तक होने पर कड़ा संज्ञान लेते हुए कहा कि शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल अपनी पार्टी का आधार बचाने के लिए हिन्दू मंदिरों में नाक रगड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि सुखबीर बादल को साफ़ हो चुका है कि इस बार उन्हें ना तो गाँवों से वोट मिलेगी और ना ही शहरों से, क्यूंकि अकाली दल ने हमेशा से ही सिखों की धार्मिक भावनाओं को आधार बना कर अपनी राजनीति की है।

जीवन गुप्ता ने कहा कि किसान आंदोलन के धरने प्रदर्शन और रोज-रोज के बंद से परेशान से हर वर्ग परेशान है और व्यापार तथा उद्योगपतियों को बहुत भारी नुकसान हो रहा है। यही पंजाब के लिए चिंता का विषय बन गया है। उन्होंने कहा कि जो पार्टियाँ कभी हिन्दू मंदिरों की तरफ मुँह नहीं करती थीं उन्हें आज मन्दिर याद आ रहे है। जीवन गुप्ता ने कहा कि पंजाब में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर प्रदेश की जनता की धार्मिक आस्था को निशाना बना कर सियासी दांव-पेंच खेलने की राजनीति की जा रही है। इसके बाद अब सभी राजनीतिक दलों की सियासत का पहिया हिंदू वोट बैंक पर आ टिका है। जिसके लिए अब कांग्रेस और अकाली दल के बाद आम आदमी पार्टी भी दांव खेल रही है। उन्होंने कहा कि जिन पार्टियों ने हमेशा हिन्दू मंदिरों और देवी-देवताओं को नज़रंदाज़ किया था आज चुनाव में अपनी हार देख कर सुखबीर बादल, नवजोत सिद्धू तथा अरविन्द केजरीवाल उन्हीं मंदिरों में माथा रगड़ने पहुँच रहे हैं, लेकिन यह एक राजनीतिक स्टंट है।

जीवन गुप्ता ने कहा कि बेअदबी के कारण अपना सियासी आधार खो चुका शिरोमणि अकाली दल ने हमेशा एस.जी.पी.सी. को आधार बना कर गुरुद्वारों के माध्यम से अपना राजनीतिक सफर तय करता आया है और सिखों की धार्मिक भावनाओं को अपने राजनीतिक फ़ायदे के लिए इस्तेमाल किया है। गुप्ता ने कहा कि साहिब श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी मामले को लेकर सिख समाज ने अकाली दल के प्रति बड़ी नाराजगी पाई जा रहीं है | जीवन गुप्ता ने कहा कि सुखबीर बादल तथा अन्य अकाली नेताओं द्वारा हिन्दुओं के प्रसिद्ध तीर्थ स्थल माता चिंतपूर्णी जी के मंदिर में माथा टेकने पर पंजाबी अख़बार द्वारा विवादित टिप्पणी किए जाने पर शिरोमणि अकाली दल बादल द्वारा अभी तक कोई ब्यान ना दिए जाने पर सवाल उठाते कहा कि खुद को सभी धर्मों का सम्मान करने के बड़े-बड़े दावे करने वाले अकाली दल ने अभी तक पंजाबी अखबार के विरुद्ध कोई कारवाई नहीं की? गुप्ता ने कहा कि अकाली दल द्वारा विवादित खबर प्रकाशित करने वाली अखबार के विरुद्ध किसी भी तरह का कोई ब्यान या कोई कारवाई की माँग न किया जाना यह साबित करता है कि अकाली दल की मानसिकता और लक्ष्य सिर्फ हिन्दू वोट बैंक तक ही सीमित है, उन्हें हिन्दुओं की भावनाओं के साथ कोई लेना देना नहीं है। जीवन गुप्ता ने कहा कि हालाँकि कुछ सिख संगठनों तथा हिन्दू संगठनों द्वारा विवादित टिप्पणी करने वाले पंजाबी अखबार का विरोध किए जाने तथा पंजाबी अखबार के विरुद्ध अभी तक कोई गिरफ्तारी ना किए जाने पर पंजाब सरकार, पुलिस तथा जिला प्रशासन के विरुद्ध भी सवाल खड़े किए। गुप्ता ने पंजाबी अखबार के संपादक तथा खबर लिखने वाले रिपोर्टर की तुरंत गिरफ्तारी की मांग की ।