कैप्टन सी.एम. के रूप में कर्तव्यों का निर्वाहन करने में विफल रहे हैं, किसानों को नीच राजनीति से गुमराह करते हैं


ashwani-sharma-2
पंजाब भाजपा के अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आड़े हाथों लेते हुए किसानों को गुमराह करने और केंद्र के कृषि बिलों के मुद्दे पर आंदोलन करने के लिए उकसाने के लिए जिम्मेदार ठहराया। अश्वनी शर्मा ने कहा कि कैप्टन अपने राजनीतिक लाभ व स्वार्थ के चलते पंजाब के किसानों को गुमराह कर रहे हैं। कैप्टन द्वारा किसानों को गलत तरीके से गलत जानकारी दी जा रही है और इस सब के लिए कैप्टन को पिछले सप्ताह पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट द्वारा विशेष रूप से फटकार भी लगाई गई थी।

अश्वनी शर्मा ने कैप्टन द्वारा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को लिखे पत्र पर प्रतिक्रिया देते हुए कहाकि कैप्टन प्रदेश में कानून-व्यवस्था बनाए रखने में बुरी तरह विफल साबित हुए हैं, जिसके चलते मालगाड़ियाँ और यात्री ट्रेनें पंजाब में नहीं आ रही हैं। “एक तरफ, कैप्टन किसानों को  आंदोलन तेज करने के लिए उकसा रहे हैं और दूसरी तरफ राज्य में ट्रेनों की आवाजाही की अनुमति नहीं दिए जाने के लिए केंद्र को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। यह कैप्टन के पाखंड और नीच राजनीतिक खेल को दर्शाता है। प्रदेश में हो रहे सभी तरह के नुक्सान कैप्टन जिम्मेवार हैं।

अश्वनी शर्मा ने कहाकि रेल मंत्री पीयूष गोयल ने यह स्पष्ट कर दिया है कि यदि कैप्टन  द्वारा निर्देशित अवरोधकों को नहीं हटाया गया, तो मालगाड़ियों को किसी भी स्थिति में पंजाब में नहीं भेजा जायेगा। शर्मा ने कैप्टन से सवाल किया कि पंजाब में 27 स्थानों पर रेलवे प्लेटफॉर्म अवरुद्ध पड़े हैं। इसके लिए कौन जिम्मेदार है ? क्या केंद्र इसके लिए जिम्मेदार है या पंजाब का मुख्यमंत्री ?

अश्वनी शर्मा ने कहाकि पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट ने रेलवे की रुकावटों को दूर करने में विफल रहने के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह व पंजाब सरकार को पहले ही फटकार लगाई है, जिसमें कैप्टन अपनी विफलता केंद्र को दोष देकर अपने फर्ज निभाने से भाग रहे हैं। शर्मा ने कहाकि भाजपा ने कभी भी किसानों की नक्सलियों से बराबरी नहीं की। हमारे किसान देश की जीवन रेखा हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लाए गए बिल किसानों को सशक्त बनाने के लिए हैं, जिससे उनकी आय दोगुनी हो सके। यह किसानों की आड़ में नक्सल तत्व हैं, जिन्हें राज्य में कानून-व्यवस्था की समस्या पैदा करने के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का समर्थन प्राप्त है।

अश्वनी शर्मा ने कहाकि भाजपा किसानों को सही परिप्रेक्ष्य में शिक्षित करने और कानून-व्यवस्था की स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए मुख्यमंत्री से सहयोग की अपील कर रही है। शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री अपने नीच राजनीतिक लाभ पर नजर गड़ाए हुए हैं और किसानों में भ्रामक प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय सुरक्षा के कारणों को मुख्यमंत्री से बेहतर समझते हैं और कैप्टन अपने संवैधानिक कर्तव्यों की जिम्मेदारी निभाने से भाग रहे हैं।

अश्वनी शर्मा ने कहाकि राज्य की कानून-व्यवस्था कैप्टन सरकार द्वारा समर्थित कांग्रेस कार्यकर्ताओं और तत्वों के कारण खतरे में हैं। कांग्रेस समर्थित गुंडों द्वारा मेरे साथ, भाजपा कार्यकर्ताओं और भाजपा कार्यालयों पर हमले की कई घटनाएं अंजाम दी  जा चुकी हैं। लेकिन आज तक किसी भी मामले में कैप्टन सरकार या पुलिस ने किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया है।