दशकों तक तत्कालीन कांग्रेस सरकारों की अनदेखी के शिकार श्री करतारपुर साहिब के दर्शनों की संगतों की अरदास को मोदी सरकार ने किया पूरा: अश्वनी शर्मा

whatsapp-image-2021-11-15-at-4-28-45-pm
अश्वनी शर्मा द्वारा करतारपुर कॉरिडोर को खुलवाने के लिए राष्ट्रपति कोविंद से की गई मुलाकात कर सौंपा ज्ञापन।

पाकिस्तान स्थित साहिब श्री गुरु नानक देव जी के पावत चरण-छोह स्थान गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब के दर्शनों के लिए करतारपुर कॉरीडोर खोले जाने की माँग को लेकर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा की अध्यक्षता में भाजपा नेताओं ने भारत के राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद जी के साथ मुलाकात की। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष के साथ भाजपा राष्ट्रीय महासचिव दुष्यंत गौतम, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य हरजीत सिंह गरेवाल, प्रदेश महामंत्री दयाल सिंह सोढ़ी व किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष बिक्रमजीत सिंह चीमा भी उपस्थित थे। भाजपा नेताओं ने राष्ट्रपति से माँग की कि 19 नवंबर 2021 को आ रहे श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश-पर्व पर करतारपुर कॉरिडोर को संगतों के लिए खोल दिया जाए।

अश्वनी शर्मा ने इस संबंधी जानकारी देते हुए कहा कि इस महीने 19 नवंबर को साहिब श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व को लेकर नानक नाम लेवा संगत पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा साहिब के दर्शनों की माँग कर रही है, जिसे करीब डेढ़ वर्ष पहले कोविड के चलते बंद कर दिया गया था। शर्मा ने कहा कि नानक नाम लेवा संगत सहित हम सभी रोज़ाना बिछड़े गुरुधामों के दर्शन के लिए खुले दर्शन-दीदार की अरदास करते हैं। आज़ादी के वक्त तत्कालीन कांग्रेसी नेताओं की गलत नीतियों के कारण पाकिस्तान में छोड़ दिया गया था, जबकि यह गुरुद्वारा तथा इसके आस-पास का ईलाका भारत का हिस्सा होना चाहिए था। 60 वर्षों तक तत्कालीन कांग्रेस सरकारों द्वारा नानक नाम लेवा संगत की अरदास को अनदेखा किया जाता रहा। 2014 में केंद्र में भाजपा सरकार बनने के बाद इस ओर प्रयास शुरू किए गए, क्यूंकि प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी की पंजाब, पंजाबियत तथा सिखों के साथ विशेष लगाव है और उन्होंने करतारपुर कॉरिडोर का निर्माण शुरू करवाया। संगतों की अरदास को पूरा करते हुए 9 नवंबर 2019 को प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार द्वारा इसे खोल दिया गया। पिछले करीब डेढ़ वर्ष से कोविड महामारी की वजह से यह कॉरिडोर बंद है और भारत से तीर्थ यात्री माथा टेकने के लिए पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा करतारपुर साहिब नहीं जा पा रहे हैं। अश्वनी शर्मा के नेतृत्व में भाजपा नेताओं ने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से माँग-पत्र देते हुए अपील की कि वो श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व से पहले इस कॉरिडोर फिर से खोल कर नानक नाम लेवा संगतों को दर्शन-दीदार के लिए तोहफा दें।

अश्वनी शर्मा ने कहा कि आज प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी के सटीक नेतृत्व में देश ने कोरोना के विरुद्ध निर्णायक युद्ध लड़ा गया है और विश्व का सबसे तेज गति का टीकाकरण कर विश्व-रिकॉर्ड बनाते हुए देश की करीब 110 करोड़ जनसंख्या का टीकाकरण भी किया जा चुका है। प्रधानमंत्री मोदी के कुशल नेतृत्व में भारत आज अनलॉक की तरफ बहुत तेजी से बढ़ रहा है। कोरोना महामारी पर करीब-करीब काबू पाए जाने के चलते भाजपा आपसे माँग करती है कि अब नानक नाम लेवा संगत की माँग को पूरा करते हुए श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर को भी खोल कर संगत की माँग को पूरा किया जाए। शर्मा ने कहा कि भाजपा नेताओं द्वारा की गई माँग को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने बहुत गंभीरता से सुना और जल्द ही विचार कर पूरा करने का आश्वासन दिया है।