प्रदेश में निकाय चुनाव अर्धसुरक्षबलों की निगरानी व शान्तमय माहौल में करवाने की भाजपा ने की मांग I कैप्टन व कांग्रेसी नेता 1984 से पहले के भयावह काले दौर को पंजाब में लाने पर है उतारू : अश्वनी शर्मा

अश्वनी शर्मा ने राज्यपाल को सौंपा मांगपत्र I
अश्वनी शर्मा ने राज्यपाल को सौंपा मांगपत्र I

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने पंजाब में कि प्रदेश में निकाय चुनाव को शान्तमय माहौल तथा अर्धसैनिक बलों की सुरक्षा में करवाए जाने की मांग की ताकि निष्पक्ष चुनाव हो सकें। अपनी मांग को लेकर भाजपा का शिष्टमंडल प्रदेश अध्यक्ष अश्वनी शर्मा के नेतृत्व में पंजाब के राज्यपाल वी.पी. सिंह बदनौर को मिला व उन्हें प्रदेश के हालातों से अवगत करवाया और उन्हें अपना मांगपत्र सौंपा I इस शिष्टमंडल में प्रदेश संगठन मंत्री दिनेश कुमार, पूर्व केन्द्रीय मंत्री विजय सांपला, मदन मोहन मित्तल, राष्ट्रीय प्रवक्ता इकबाल सिंह लालपुरा, मनोरंजन कालिया, तीक्ष्ण सूद, प्रदेश भाजपा महासचिव डॉ. सुभाष शर्मा व बिक्रमजीत चीमा शामिल थे I

                    अश्वनी शर्मा ने मीडिया से बात करते हुए कहाकि प्रदेश में बनी हुई हिंसक स्थिति के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह व उनकी कांग्रेस सरकार जिम्मेवार है । पांच नदियों की इस पवित्र भूमि के शांतिपूर्ण वातावरण को कुछ शरारती तत्व ख़राब करना चाहते हैं । भाजपा हमेशा हिन्दू-सिक्ख भाईचारे को बनाये रखने के लिए वचनबद्ध व प्रतिबद्ध है I हमने आंतकवाद के दौर में बहुत नुकसान झेला है और असमाजिक ताकतें हमारे रिश्तों को खत्म नहीं कर सकतीं I अब फिर से कुछ सम्प्रदायिक ताकतें प्रदेश  में शान्तमय व भाईचारक माहौल को नष्ट करने की कोशिश कर रही हैं।

                    अश्वनी शर्मा ने गवर्नर को रवनीत सिंह बिट्टू के भड़काऊ बयानों के बारे में जानकारी देकर उसके विरुद्ध कानूनी कारवाई करने की मांग की I यह कांग्रेस पार्टी की मानसिकता को दर्शाता है। उन्होंने कहाकि 1984 के दंगे पूरे देश के तन पर नासूर हैं, इसे दोबारा न दोहराया जा सके ऐसा बंदोबस्त किया जाना चाहिए। शर्मा ने कहा कि भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं के घरों के बाहर लगे धरनों तथा आंदोलनकारियों को वहां से हटाया जाए और विरोध करने के लिए उन्हें अलग जगह दी जाए। उन्होंने कहाकि भाजपा किसानों की मांगों की कद्र करती है I कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार प्रदेश में जुल्म ढा रही है और प्रदेश की अर्थव्यवस्था और साधभावना को नष्ट करने के लिए हर तरह के हथकंडे अपना रही है।