भाजपा कोर ग्रुप ने दोनो विधेयकों का किया स्वागत, केंद्र सरकार का जताया आभार |

केंद्र सरकार द्वारा पारित कृषि विधेयक किसानो के जीवन में बदलाव लाने मे निभाएगा अहम भूमिका: अश्वनी शर्मा 
केंद्र सरकार द्वारा पारित कृषि विधेयक किसानो के जीवन में बदलाव लाने मे निभाएगा अहम भूमिका: अश्वनी शर्मा

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा कृषि व् किसानों संबंधी संसद में पास किये गए अध्यादेशों पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा की अध्यक्षता में कोर ग्रुप की एक बैठक प्रदेश भाजपा कार्यालय चंडीगढ़ में हुई, जिसमें सभी ने प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी, कृषि मंत्री नरेंदर सिंह तोमर व केंद्र सरकार का आभार जताया I इस अवसर पर भाजपा राष्ट्रीय सचिव तरुण चुघ, मदन मोहन मित्तल, मनोरंजन कालिया, राजिंदर भंडारी, जीवन गुप्ता, डॉ. सुभाष शर्मा, मलविंदर कंग आदि उपस्थित थे I अश्वनी शर्मा ने कहाकि इन सभी बिलों में किसानों के खिलाफ एक शब्द भी नहीं है I शर्मा ने संसद में पारित इन बिलों को लेकर विरोध कर रहे सभी नेताओं व किसान स्न्ग्थानों से पहले इन बिलों को पढ़ने का आग्रह किया और कहाकि इसमें कुछ भी किसान विरोधी नहीं है I शर्मा ने कहाकि केंद्र सरकार अलगे सप्ताह रबी की फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य तय करने जा रही है, जबकि किसानों की पिछली फसल भी केंद्र द्वारा निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकारी ऐजंसियों द्वारा करीदी गई थी I

अश्वनी शर्मा ने कहाकि किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाने, किसानों की आय बढ़ाने एवं उनके जीवन स्तर में बदलाव लाने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी के नेतृत्व में देश के किसानों के साथ कंधे से कन्धा मिलाकर  भारत सरकार, कृषि मंत्रालय तथा कृषि विज्ञानी मिशन में जुटे हुए हैं I उन्होंने कहाकि आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत 1 लाख करोड़ कृषि अवसरंचना फंड स्थापित किया गया है I देश में 10 हजार कृषक उत्पादक समूहों (एफपीओ) की स्थापना की जा रही है I शर्मा ने कहाकि सरकार का प्रत्येक कदम किसानों को उनकी उपज का उचित लाभ दिलाने के लिए गया है I

अश्वनी शर्मा ने कहाकि ‘कृषि उपज व्यापार एवं वाणिज्य (संवर्धन एवं सरलीकरण) विधेयक 2020′ में किसानों को उनकी उपज के विक्रय की स्वतन्त्रता व किसान एवं व्यापारी को कृषि उपज मंडी अथवा मंडी से बाहर अन्य माध्यम से बेचने का प्रावधान किया गया है I किसान अपनी फसल राज्य के भीतर या बाहर देश के किसी भी स्थान पर निर्बाध रूप से बेच सकता है I शर्मा ने कहाकि केंद्र सरकार बार-बार कह रही है कि एमएसपी थी, एमएसपी है तथा एमएसपी रहेगी, लेकिन कांग्रेस तथा अन्य नेता बार-बार किसानों को इस मुद्दे पर गुमराह कर रहे हैं । शर्मा ने कहाकि मंडियां भी यथावत रहेंगी तथा मंडी में आने  वाला किसान की फसल का एक-एक दाना खरीदने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है ।

अश्वनी शर्मा ने कहाकि “कृषक (सशक्तिकरण व् सरंक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक 2020″ में कृषकों को व्यापारियों, कंम्पनियों प्रसंस्करण इकाईयों, निर्यातकों से सीधे जोड़ना, कृषि करार करके किसान की उपज का मूल्य निर्धारण तथा दाम बढ़ने पर किसान को अतिरिक्त लाभ मिलने की व्यवस्था, बाजार की अनिश्चितता से कृषकों को बचाना, किसान को उन्नत किस्म के बीज तथा कृषि उत्पाद पहुँचाना, किसान को उसकी उपज के दाम का तीन दिन के भीतर भुगतान करना व किसानों की आय में वृद्धि सुनिश्चित करना, किसी विवाद की स्थिति में उसका निपटारा 30 दिन सुनिश्चित किया जाना, किसान को उसके अनुबंध में पूर्ण स्वतन्त्रता प्रदान व किसान को अपने खेतों में ही फसल बेचने का अधिकार प्रदान करना जैसे प्रावधान रखे गए हैं I

अश्वनी शर्मा ने विरोध कर रहे विपक्ष को आड़े हाथों लेते हुए कहाकि कैप्टन अमरिंदर सिंह, प्रदेश की कांग्रेस सरकार तथा आम आदमी पार्टी के नेताओं द्वारा कृषि संबंधी पारित कानूनों को लेकर किसानों व आम जनता को गुमराह कर भड़काया जा रहा है और प्रदेश का सध्भावना वाला माहौल बिगाड़ा जा रहा है I शर्मा ने कहाकि विपक्षी नेता अपना राजनीतिक स्वार्थ सिद्ध करने के लिए भोले-भले किसानों व आम जनता को बलि का बकरा बना रहे हैं और पंजाब को  आग में झोंक रहे हैं I जिसके नतीजे आने वाले दिनों में भयानक भी हो सकते हैं I

अश्वनी शर्मा ने किसान संगठनों से आह्वान किया कि यदि उन्हें कृषि संबंधी पारित इन कानूनों से किसी भी तरह की शिकायत है तो वह उसे मिल कर बात करें और प्रदेश भाजपा केंद्र सरकार से किसानों की सिधी बात करवा सकती है I