मुख्यमंत्री चन्नी का सत्ता की मदहोशी में बिगड़ा मानसिक संतुलन, तभी कर रहे RSS के विरुद्ध बेहूदी व् बेतुकी बयानबाजी | चन्नी द्वारा RSS व भाजपा के विरुद्ध विधानसभा में दिया गया ब्यान मुख्यमंत्री की मर्यादा के विरुद्ध: अश्वनी शर्मा

ashwani-sharma-2-1भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अश्वनी शर्मा द्वारा बीते कल मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी द्वारा पंजाब विधानसभा में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) व भाजपा के विरुद्ध पंजाब विधानसभा में सभी के समक्ष दिए गए ब्यान पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा कि यह मुख्यमंत्री की मर्यादा के विरुद्ध है। चन्नी का सत्ता की मदहोशी के चलते मानसिक संतुलन बिगड़ चुका है, तभी वो RSS के विरुद्ध बेहूदा व् बेतुकी बयानबाजी कर रहे हैं। मुख्यमंत्री को ऐसी गिरी हुई अभद्र भाषा शोभा नहीं देती। शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री चन्नी ने जो कहा है उसकी जितनी भी निंदा की जाए उतनी कम है।

अश्वनी शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री चन्नी किसी पार्टी का नाम लेकर कह रहे हैं कि आप आरएसएस को पंजाब में लेकर आए, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ और भाजपा को पंजाब में कोई घुसने नहीं देता, लगता है चन्नी ने या तो इतिहास पढ़ा नहीं है या फिर उन्हें इतिहास का ज्ञान कम है। शर्मा ने कहा कि मैं चन्नी जी को बता दूँ कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) पंजाब में तब से कार्य कर रही है, जब देश का विभाजन भी नहीं हुआ था और आप तब पैदा भी नहीं हुए थे।! चन्नी ने कहा कि आरएसएस दुश्मन जमात है, आपने ठीक कहा दुश्मन जमात है लेकिन उनके लिए जो देश का विरोध करते हैं, धर्मांतरण करते और करवाते है व धर्मांतरण करने वालों का साथ देते हैं, देश को तोड़ने वाली शक्तियों को प्रश्रय देते हैं। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) को आपके प्रमाणपत्र की आवश्यकता नहीं है। आरएसएस का प्रमाणपत्र लोगों का अथाह प्रेम और विश्वास है, जो लोग निसंदेह आरएसएस पर करते हैं। आप आरएसएस पर टिप्पणी करते हैं लेकिन गुरदासपुर में देश विरोधी नारे लगाने वालों के विरुद्ध न आप और न आपके किसी विधायक या मंत्री के मुहँ से एक शब्द निकला।  पंजाब में आतंकवाद में बलिदान हुए 32000 से अधिक हिंदुओं के लिए एक भी सांत्वना का शब्द आज तक पंजाब के किसी कांग्रेसी मंत्री या विधायक के मुंह से नहीं निकला। आपने आरएसएस को नहीं संपूर्ण हिन्दू समाज और देशभगत लोगों के मन को अपनी इस टिप्पणी से ठेस पहुंचाने का कार्य किया है। जिसके लिए चन्नी तथा समस्त पंजाब कांग्रेस को देश की जनता से माफ़ी मांगनी पड़ेगी। पंजाब की जनता बहुत समझदार हैं, वो सब समझ रहे हैं कि कांग्रेस का मुख्य लक्ष्य क्या है?

अश्वनी शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री चन्नी अपनी बेहूदा बयानबाजी से पंजाब का शान्तमय व भाईचारे का माहौल ख़राब करने पर तुले हुए हैं। लगता है चन्नी का मुख्य मकसद पंजाब में 1984 का काला दौर फिर सजीव करने का है। शर्मा ने कहा कि पंजाब की जनता उचित समय आने पर अपना निर्णय भी देशहित, पंजाब हित और हिन्दू हित में देकर इन भष्ट, देश-विरोधी कांग्रेसियों के मुँह पर करारा तमाचा मार कर देगी।