लॉ एंड ऑर्डर की पंजाब में उड़ी धज्जियों को लेकर भाजपा शिष्टमंडल ने राज्यपाल को सौंपा मांगपत्र।

whatsapp-image-2021-07-06-at-18-16-40

किसानी आन्दोलन की आढ़ में राजनीति से प्रेरित व सरंक्षित गुंडातत्वों द्वारा प्रदेश में भाजपा नेताओं पर जानलेवा हमलों, भाजपा कार्यालयों पर हमले तथा भाजपा नेताओं की निजी संपति का नुकसान पहुँचाने को लेकर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा की अध्यक्षता में शिष्टमंडल ने पंजाब के माननीय राज्यपाल वी.पी. सिंह बदनौर से मुलाकात की तथा उन्हें विस्तृत जानकारी दी। अश्वनी शर्मा ने राज्यपाल को कृषि कानूनों के विरोध की आड़ में जानलेवा हमला करने वाले बदमाशों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करने और राज्य में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए डी.जी.पी. पंजाब को निर्देश जारी करने संबंधी आपना माँगपत्र सौंपा।

          अश्वनी शर्मा ने मीडिया से बात करते हुए कहाकि पिछले एक वर्ष के दौरान पंजाब में भाजपा के दिग्गज नेताओं और कार्यकर्ताओं पर पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में किसानों के विरोध की आड़ में उपद्रवियों व असामाजिक तत्वों द्वारा जानलेवा हमले किए जा रहे हैं और उनकी संपत्तियों में तोड़फोड़ की जा रही है। लेकिन पुलिस ने उनके खिलाफ पुलिस कोई कार्रवाई नहीं की। जो स्पष्ट रूप दर्शाता है कि उक्त घटनाओं में असामाजिक तत्वों के साथ पुलिस की मिलीभगत है। पुलिस के सक्रिय सहयोग से राज्य में दिन प्रतिदिन ऐसी घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। सत्ताधारी नेताओं के साथ-साथ अन्य विरोधी दल के नेता भी वर्तमान परिस्थितियों में अपने राजनीतिक लाभ के लिए इस प्रकार की हिंसा और धमकीयों का सहारा ले रहे हैं। ऐसे में राज्य का कोई भी निवासी खुद को सुरक्षित और संरक्षित महसूस नहीं कर रहा। 2 जुलाई 2021 को किसानों के विरोध की आड़ में बदमाशों ने बरनाला जिले के धनौला गांव में वरिष्ठ भाजपा नेता हरजीत सिंह ग्रेवाल की कृषि भूमि में रोपे गए धान को नष्ट कर दिया, जिससे उनका भरी आर्थिक नुकसान हुआ है, लेकिन शिकायत के बावजूद पुलिस ने उक्त बदमाशों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है।

अश्वनी शर्मा ने कहा कि होशियारपुर में केंद्रीय राज्यमंत्री सोम प्रकाश की कार पर दो बार हमला घातक हथियारों से हमला किया जिसमें उनकी कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुई और इन घटनाओं में उक्त भीड़ के हाथों से सोम प्रकाश बाल-बाल बचे, बावजूद इसके बदमाशों के खिलाफ पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इससे पहले पूर्व कैबिनेट मंत्री तीक्ष्ण सूद और सीनियर नेता राजिन्दर भंडारी पर होशियारपुर में कार्यक्रम के दौरान कुछ बदमाशों ने हमला कर जम कर तोड़फोड़ की। उन्होंने कहाकि इन हमलावरों की मंशा कितनी खतरनाक है वह इन सब वारदातों से अंदाज़ा लगाया जा सकता है। अश्वनी शर्मा ने कहाकि मुझ पर भी नवांशहर, कपूरथला तथा फिरोजपुर में तीन बार घातक जानलेवा हमले पुलसी के उच्चाधिकारियों की उपस्थिति में किए जा चुके हैं, लेकिन पुलिस को शिकायत के बावजूद भी अभी तक उन मामलों में कोई कारवाही नहीं हुई।

अश्वनी शर्मा ने कहाकि मुक्तसर के मलौट में भाजपा विधायक अरुण नारंग को कुछ बदमाशों ने जान से मारने की नीयत जो कि घातक हथियारों से लैस थे उन पर हमला कर उनके सभी कपड़े फाड़ दिए गए। अरुण नारंग को भरे बाज़ार नंगा कर दिया गया। इस दौरान अरुण नारंग, अशोक छाबड़ा और राजेश फूटेला को गंभीर चोटें आईं और उनकी कार भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। 25 मार्च को पूर्व मंत्री सुरजीत ज्याणी पर बठिंडा में, 26 मार्च को प्रदेश उपाध्यक्ष राजेश बागा पर रोपड़ में, भूपेश अग्रवाल पर पटियाला में, श्रीमती सुनीता गर्ग पर फिरोजपुर, मदन मोहन मित्तल पर बठिंडा में, भवानीगढ़ में भाजपा के संगठन मंत्री दिनेश कुमार पर, मदन शौंकी पर मोहाली में, 25 दिसम्बर 2020 को श्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर 31 स्थानों पर भाजपा के कार्यक्रमों में श्रद्धांजली देते वक्त योजनाबद्ध तरीके से हमला किया गया था। इतना ही नहीं कुछ राजनीतिक विरोधियों के इशारे पर कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा पिछले कई महीनों से भाजपा नेताओं के घरों व कार्यालयों के समक्ष आने-जाने का मार्ग जबरन अवरुद्ध कर नाजायज धरने लगाए हुए हैं, जिन्हें पुलिस द्वारा अभी तक नहीं उठाया गया है।

अश्वनी शर्मा ने कहाकि यह सब सत्ताधारी नेताओं व विपक्ष द्वारा योजनाबद्ध तरीके से अपने राजनीतिक लाभ के लिए प्रदेश का शान्तमय व भाईचारे का माहौल ख़राब करने की कोशिश की जा रही है। भाजपा कभी भी ऐसा नहीं होने देगी। भाजपा द्वारा इस संबंध में दी.जी.पी. पंजाब को भी शिकायत दी गई थी, लेकिन उनके द्वारा इस संबंध में कोई कारवाई नहीं की गई। भाजपा आपसे अनुरोध करती है कि किसानों के विरोध की आड़ में राज्य में उपद्रव करने वाले उपद्रवियों के विरुद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई के लिए आप स्वयं हस्तक्षेप करें तथा राज्य प्राधिकरण को निर्देश जारी करें ताकि राज्य में कानून-व्यवस्था बहाल हो सके। इस अवसर पर संगठन मंत्री दिनेश कुमार, राष्ट्रीय भाजपा प्रवक्ता इक़बाल सिंह लालपुरा, पूर्व मंत्री सुरजीत कुमार ज्याणी, प्रदेश भाजपा महासचिव जीवन गुप्ता, डॉ. सुभाष शर्मा, हरजीत सिंह गaरेवाल, राजेश बागा आदि उपस्थित थे।