विधानसभा चुनाव संबंधी तैयारियों, संगठनात्मक ढांचे के पुनर्निरीक्षण व संगठन को और मज़बूत करने तथा पार्टी को बूथ स्तर तक और सक्रिय हेतु अश्वनी शर्मा का मालवा का तूफानी दौरा।

img-20210413-wa0023
आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी भी चुनाव मैदान में अपना बिगुल फूँक चुकी है। इसको लेकर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा द्वारा पंजाब के सभी जिलों में प्रदेश व जिला स्तर से लेकर बूथ-स्तर तक के संगठनात्मक ढांचे की सरंचना को और सक्रिय करने, पार्टी के आगामी कार्यक्रमों तथा कार्यकर्ताओं के मार्ग-दर्शन के लिए मालवा का तूफानी दौरा किया। इसी कड़ी में अश्वनी शर्मा द्वारा अबोहर, फाजिल्का, मुक्तसर व बठिंडा विधानसभा क्षेत्रों के प्रदेश से लेकर बूथ स्तर के सभी पदाधिकारियों की बैठकें की। उन्होंने इस अवसर पर उनके साथ प्रदेश भाजपा  महासचिव जीवन गुप्ता, डॉ. सुभाष शर्मा, राजेश बागा, दयाल सिंह सोढ़ी आदि उपस्थित थे।

अश्वनी शर्मा ने इस अवसर पर उपस्थित कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है और इस बार पहली बार भाजपा अपने दम पर 117 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है और इसको लेकर कार्यकर्ताओं में बहुत जोश देखने को मिल रहा है और जनता भी इस बार भाजपा को पंजाब में विकल्प के रूप में सत्ता में लाने का दृढ़ संकल्प कर चुकी है। कांग्रेस व शिअद के सहित अन्य विपक्षी दलों के दिग्गज नेताओं का भारतीय जनता पार्टी में शामिल होना इस बात का प्रत्यक्ष प्रमाण है कि भारतीय जनता पार्टी का जनाधार कितना हो चुका है। उधर पंजाब की जनता कांग्रेस के कुशासन व भ्रष्टाचार से बहुत तंग हैं और पंजाब में सत्ता परिवर्तण का मन बना चुकी है। प्रदेश में कानून-व्यवस्था की हालत बद से बदतर हो चुकी है। दिन-दिहाड़े बैंक डकैतियां, सरेबाजार लूट-पाट, हत्याएं आदि हो रहे हैं। राज्य सरकार की जन-विरोधी व प्रदेश विरोधी नीतियों के चलते प्रदेश के शिक्षक, स्वास्थ्य कर्मी, व्यापारी, मजदूर, किसान, सरकारी कर्मचारी, यहाँ तक कि मुख्यमंत्री के अपने सैक्टरेट के कर्मी आदि सभी अपनी मांगों को लेकर कांग्रेस सरकार के विरुद्ध सड़कों पर धरने-प्रदर्शन कर रहे हैं और प्रदेश का शासन राम-भरोसे चल रहा है। पंजाब के गृहमंत्री रंधावा प्रदेश के शान्तमय व भाईचारे के माहौल को दांव पर लगा कर रोज़ाना पुलिस अधिकारीयों के तबादले पर तबादले किए जा रहे हैं। सिद्धू व रंधावा के इशारे पर राजनीतिक द्वेष के चलते झूठे मामले दर्ज किए जा रहे हैं।

अश्वनी शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री ऐलानजीत सिंह व दिल्ली के झूठ के पुलिंदे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पंजाब में अपनी-अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए जनता से हवाई लुभावने वादे कर उन्हें लुभाने की जी-तोड़ मेहनत कर रहे हैं। दोनों को माननीय अदालतों द्वारा उनके किसी ना किसी समाज या जन-विरोधी कार्य के लिए जमकर फटकार लगाई गई है। उधर नवजोत सिद्धू अपनी ही कांग्रेस सरकार के विरुद्ध घेराबंदी कर उनके इन लुभावने वादों को झूठा साबित कर रहे हैं। नवजोत सिद्धू द्वारा उन्हें मुख्यमंत्री ना बनाए जाने की सूरत में हाई-कमान को भी हेंकड़ी दिखाए हुए चैलेज किया जा रहा है। शर्मा ने कहा कि जो व्यक्ति अपनी पार्टी का नहीं हो सकता वो पंजाब या उसकी जनता का कैसे हो सकता है?

अश्वनी शर्मा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के लिए इस वक्त पंजाब में माहौल बिलकुल अनुकूल है। प्रदेश की जनता व भाजपा कार्यकर्त्ता पंजाब में सत्ता-परिवर्तन के लिए ठान चुके है। इसलिए वो पंजाब में भी केंद्र की भारतीय जनता पार्टी की सरकार की तरह पंजाब में भी भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने के लिए दृढ़ संकल्प कर चुके हैं। ताकि राज्य में डबल इंजन लगी सरकार पंजाब का व पंजाब के लोगों का तेजी से विकास कर सके।